अलग हर सिम्त से दिखता है मन्ज़र,
नज़रिया है ग़लत क्या और सही क्या.

गुरुवार, 26 अगस्त 2010

परिभाषाएँ

पन्द्रह अगस्त और छ्ब्बीस जनवरी को,
झन्डा फ़हराकर देशप्रेम के गीत सुनना,
देशभक्ति कहलाता है.

पर्यावरण दिवस पर पौधे रोपकर,
उन्हें हमेशा के लिये भूल जाना,
व्रिक्षारोपण कहलाता है.

जनप्रतिनिधियों का स्वयमेव,
अपनी तनख़्वाह तय कर लेना,
प्रजातन्त्र कहलाता है.

परस्पर हित साधन के लिये,
दो व्यक्तियों का आपसी सम्पर्क,
मित्रता कहलाता है.

नरभक्षियों द्वारा अपना भोजन,
काँटे-छुरी प्रयोग कर खाना,
विकास कहलाता है.

क्रमशः

3 टिप्‍पणियां: